HomeVedantSri Varanasi ArticleAbout Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi
(Last Updated On: November 11, 2022)

About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi

Hi guys In This post we Read About Savitribai Phule Biography In this post, I am going to tell you about the Image, Quotes, and Punyatithi So This Post will Give you Information About Savitribai Phule Biography

About Savitribai Phule

Savitribai Phule of Biography

सावित्रीबाई फुले का जन्म 3 जनवरी 1831 को हुआ था। इनके पिता का नाम खन्दोजी नैवेसे और माता का नाम लक्ष्मी था। सावित्रीबाई फुले का विवाह 1840 में ज्योतिराव फुले से हुआ था। स्वाभिमान से जीने के लिए पढ़ाई करो

सावित्री बाई फुले भारत उनको महिलाओं और दलित जातियों को शिक्षित के पहले बालिका विद्यालय की पहली प्रिंसिपल और पहले किसान स्कूल की संस्थापक थीं। महात्मा ज्योतिराव को महाराष्ट्र और भारत में
सावित्रीबाई पूरे देश की महानायिका हैं। हर बिरादरी और धर्म के लिये उन्होंने काम किया। जब सावित्रीबाई कन्याओं को पढ़ाने के लिए जाती थीं

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Biography
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 10

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

About Savitribai Phule Biography

Biography of Savitribai Phule

महान् समाज सुधारक सावित्रीबाई फुले का जन्म 3 जनवरी को साल 1831 में महाराष्ट्र राज्य के सतारा जिले के नायगांव में हुआ था। इनके पिता का नाम खन्दोज़ी नेवसे था जोकि एक किसान थे। इनकी माता का नाम लक्ष्मीबाई था। सावित्रीबाई फुले पढ़ी लिखी नही थीं। एक बार की बात है जब वह अंग्रेजी की किताब के पन्ने पलट रही थीं
परन्तु मात्र 9 साल की उम्र में ही सावित्रीबाई फुले का विवाह पूना निवासी एक समाज सुधारक थी इसके अलावा सावित्रीबाई फुले और उनके पति ज्योतिबा फुले की कोई संतान नहीं थी।

Read Also :-  About O Level Course, Top 1 BesSyllabus, Duration, Fees, Scope, Institute, and Jobs in Varanasi

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Biography Image, Quotes, Punyatithi
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 11

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Biography
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 12

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

About Savitribai Phule Image

Image of Savitribai Phule

सावित्री बाई फुले को पढ़ने की बहुत इच्छा थी, लेकिन इसका उनके परिवार और ससुराल वालों ने विरोध किया। हालांकि, उनके पति ने उनका साथ दिया। सावित्री बाई जब खेत में काम कर रहे पति ज्योतिराव को खाना देने जाती थीं

तब उन्हें वह पढ़ाया करते थे। परिवार व समाज के विरोध के बावजूद उन्होंने सावित्री बाई को स्कूल में दाखिला दिलवाया। उन्होंने अध्यापक प्रशिक्षण संस्थान में भी प्रशिक्षण प्राप्त किया।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Biography Image, Quotes, Punyatithi
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 13

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Image
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 14

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

About Savitribai Phule Quotes

Quotes of Savitribai Phule

भारत की पहली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले जिसके चलते उन्होंने एक विधवा ब्राह्मण के बेटे यशवंतराव को पाला था। इतना ही नहीं सावित्रीबाई फुले और ज्योतिबा फुले के इस फैसले का उनके परिवार वालों ने काफी विरोध किया था। जिसके चलते वह दोनों अपने परिवार से अलग हो गए थे।

तुम बकरी गाय को सहलाते हो, नाग पंचमी पर नाग को दूध पिलाते हो, लेकिन दलित को तुम इंसान नही अछूत मानते हो।

पत्थर को सिंदूर लगाकर और तेल मे डुबोकर जिसे देवता समझा जाता है,वह असल मे पत्थर ही होता है।

Read Also :-  Navratri Banner Design in CorelDraw, Easy Method, Complete steps, Download practice File

अज्ञानता को तुम पकड़ो, धर दबोचो, मजबूती से पकड़कर उसे पिटो और उसे अपने जीवन से भगा दो।

बेटी के विवाह से पहले उसे शिक्षित बनाओ ताकि वह आसानी से अच्छे, बुरे का फर्क कर सके।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Quotes
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 15

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Biography Image, Quotes, Punyatithi
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 16

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

About Savitribai Phule Punyatithi

Punyatithi of Savitribai Phule

सावित्री बाई फुले को भारत की पहली शिक्षिका होने का श्रेय जाता है। उन्होंने यह उपलब्धि तब हासिल की जब महिलाओं का शिक्षा ग्रहण करना तो दूर की बात थी, उनका घर से निकलना भी मुमकिन नहीं था।

जब सावित्री बाई स्कूल जाती थीं, तो लोग उन्हें पत्थर मारते थे, उनके पति ज्योतिराव फुले की आलोचना भी करते थे।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Punyatithi
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 17

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे।

About Savitribai Phule Biography Image, Quotes, Punyatithi
About Savitribai Phule Biography, Image, Quotes, Punyatithi 18

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Frequently Asked Questions

1.भारत की प्रथम महिला शिक्षक कौन थी?
सावित्रीबाई फुले ने अपने पति महात्मा ज्योतिबा फुले संग मिलकर स्त्रियों के अधिकारों एवं उन्हें शिक्षित करने के लिए क्रांतिकारी प्रयास किए। उन्हें भारत की प्रथम कन्या विद्यालय की पहली महिला शिक्षिका होने का गौरव हासिल है। उन्हें आधुनिक मराठी काव्य का अग्रदूत भी माना जाता है

2.शिक्षा के बिना मनुष्य क्या है?
कहा गया है कि शिक्षा के बिना मनुष्य पशु के समान है। शिक्षा न सिर्फ मनुष्य को मानव धर्म का बोध कराती है बल्कि शिक्षा से सामाजिक कुरीतियों का नाश भी होता है

Read Also :-  Photoshop Selection Shortcut Keys

3.भारत में पहला स्कूल किसने शुरू किया था?
1853 में, सावित्रीबाई और ज्योतिराव ने एक शिक्षा समाज की स्थापना की, जिसने आसपास के गांवों में सभी वर्गों की लड़कियों और महिलाओं के लिए अधिक स्कूल खोले। उसका सफर आसान नहीं था। उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया और स्कूल जाते समय उस पर गोबर फेंका गया।

4.भारत में पहला स्कूल किसने शुरू किया था?
1853 में, सावित्रीबाई और ज्योतिराव ने एक शिक्षा समाज की स्थापना की, जिसने आसपास के गांवों में सभी वर्गों की लड़कियों और महिलाओं के लिए अधिक स्कूल खोले। उसका सफर आसान नहीं था। उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया और स्कूल जाते समय उस पर गोबर फेंका गया।

5.सावित्रीबाई फुले का नारा क्या है?

सावित्रीबाई फुले के अनमोल विचार हम परास्त होंगे और भविष्य में सफलता हमारी होगी । भविष्य हमारा है। सावित्रीबाई फुले के उद्धरण: वर्ष 1876 चला गया है, लेकिन अकाल नहीं है – यह यहां सबसे भयानक रूपों में रहता है। लोग मर रहे हैं।

Visit at – https://www.corelclass.com

Also, Read it – CorelDraw Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

Read Also – Tally Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

Also Read – CCC Course Fees, Syllabus, Duration, Scope, Jobs, and Institute

Important Link – DFA Course Fees, Syllabus, Duration, Scope, Jobs, and Institute

Visit – ADCA Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

mm
VedantSri Onlinehttps://vedantsri.net
This is VedantSri Online Support System, Which update class related Tricks, Tips, Tutorials and Online Test Of CCC.
Related Post

Latest Post

Popular Course

Popular Post

Top Post