HomeVedantSri Varanasi ArticleAll About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur
(Last Updated On: November 15, 2022)

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur

Hi guys In This post we Read Jantar Mantar In this post, I am going to tell you about the kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur So This Post Will Give Information About Jantar Mantar

About Jantar Mantar

Jantar Mantar

मोहम्मद शाह के शासन काल में हिन्दु और मुस्लिम खगोलशास्त्रियों में ग्रहों की स्थिति को लेकर बहस छिड़ गई थी। इसे खत्म करने के लिए सवाई जय सिंह ने जंतर-मंतर का निर्माण करवाया। ग्रहों की गति नापने के लिए यहां विभिन्न प्रकार के उपकरण लगाए गए हैं। सम्राट यंत्र सूर्य की सहायता से वक्त और ग्रहों की स्थिति की जानकारी देता है।

राजा जयसिंह द्वितीय बहुत छोटी आयु से गणित में बहुत ही अधिक रूचि रखते थे। उनकी औपचारिक पढ़ाई 11 वर्ष की आयु में छूट गयी क्योंकि उनकी पिताजी की मृत्यु के बाद उन्हें ही राजगद्दी संभालनी पड़ी थी। 25 जनवरी, 1700 में गद्दी संभालने के बाद भी उन्होंने अपना अध्ययन नहीं छोडा। सभी ने उनके इस महान कार्य के बराबर योगदान दिया।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur VedantSri
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 11

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 1
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 12

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Jantar Mantar kahan hai

where is Jantar mantar

भारत में पांच जंतर-मंतर हैं, जो जसपुर, दिल्ली, मथुरा, वाराणसी और उज्जैन में स्थित हैं। जंतर मंतर में विभिन्न वास्तु और ज्योतिषीय उपकरण हैं जिन्होंने दुनिया भर के इतिहासकारों, खगोलविदों और वास्तुकारों का ध्यान आकर्षित किया है। जंतर-मंतर एक खगोलीय वैधशाला है।

बड़ी बड़ी इमारतों से घिर जाने के कारण आज इन के अध्ययन सटीक नतीजे नहीं दे पाते हैं। दिल्ली सहित देशभर में कुल पांच वेधशालाएं हैं- (बनारस, जयपुर, मथुरा और उज्जैन) में मौजूद हैं, जिनमें जयपुर जंतर-मंतर के यंत्र ही पूरी तरह से सही स्थिति में हैं।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 2
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 13

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 3
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 14

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Jantar Mantar Varanasi

Varanasi of Jantar Mantar

वाराणसी Varanasi भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का प्रसिद्ध नगर है। इसे ‘बनारस’ और ‘काशी’ भी कहते हैं। इसे हिन्दू धर्म में सर्वाधिक पवित्र नगरों में से एक माना जाता है इसके अलावा बौद्ध एवं जैन धर्म में भी इसे पवित्र माना जाता है। यह संसार के प्राचीनतम शहरों में से एक भारत का प्राचीनतम शहर है। काशी नरेश (काशी के महाराजा) वाराणसी शहर के मुख्य सांस्कृतिक संरक्षक, सभी धार्मिक क्रिया-कलापों के हैं।

Jantar Mantar in Varanasi

हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत का बनारस घराना वाराणसी में ही जन्मा व विकसित हुआ है। भारत के कई कवि, लेखक, संगीतज्ञ वाराणसी में रहे हैं, जिनमें कबीर, वल्लभाचार्य, रविदास, स्वामी रामानंद, शिवानन्द गोस्वामी, मुंशी प्रेमचंद, जयशंकर प्रसाद, आचार्य रामचंद्र शुक्ल, पंडित रवि शंकर, गिरिजा देवी, पंडित हरि प्रसाद चौरसिया व उस्ताद बिस्मिल्लाह खां आदि कुछ हैं। गोस्वामी तुलसीदास ने हिन्दू धर्म का परम-पूज्य ग्रंथ रामचरितमानस लिखा था और गौतम बुद्ध ने अपना प्रथम प्रवचन यहीं निकट सारनाथ में दिया था।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 4
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 15

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 5
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 16

Jantar Mantar Ujjain

Ujjain of Jantar Mantar

जंतर मंतर उज्जैन में स्थित वास्तु चमत्कार है जिसे 17 वीं शताब्दी में स्थापित किया गया था। आपको बता दें कि जंतर मंतर को वेद शाला भी कहा जाता है जो भारत में निर्मित पांच वेधशालाओं (जयपुर, दिल्ली, उज्जैन, मथुरा, और वाराणसी) में से एक है और इन समूह की सबसे पहली वेद शाला का निर्माण दिल्ली में किया गया था।

Jantar Mantar Ujjain

उज्जैन में वेधशाला को खगोलीय तालिकाओं और सूर्य, ग्रहों और चंद्रमा की गतिविधियों की भविष्यवाणी के लिए बनाया गया था। राजा जय सिंह की खगोल विज्ञान में गहरी रुचि थी और उन्होंने खगोल-गणित से संबंधित कई पुस्तकों का अध्ययन किया। जय सिंह ने उज्जैन में वेधशाला की स्थापना के लिए महान योगदान दिया है

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 6
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 17

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 7
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 18

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Jantar Mantar Jaipur

जयपुर में स्थित जंतर-मंतर एक ऐतिहासिक स्मारक है जो की भारत की पांच खगोलीय वेधशालाओं में से सबसे बड़ा है। इसका निर्माण 18वीं सदीं में महाराजा सवाई जय सिंह द्वारा करवाया गया है।

यह भारत के मुख्य पर्यटकों एवं आकर्षक स्थलों में से भी एक हैं, जिसे अपने सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और वैज्ञानिक महत्व की वजह से यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शामिल किया गया है। आइए जानते हैं इस वेधशाला से जुड़ी खास बातें।

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 8
Jantar Mantar Jaipur

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Basically, Click करके नीचे दिये गये Image को Download करे

All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 9
All About Jantar Mantar, kahan hai, Varanasi, Ujjain, Jaipur 19

Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को Download करे

Frequently Asked Questions

1.जंतर मंतर का क्या अर्थ है
जंतर मंतर और उसका इतिहास यह नाम संस्कृत भाषा से लिया गया है – ‘यंत्र’ से ‘जंतर’, जिसका अर्थ है यंत्र या मशीन, और मंत्र से मंत्र का अर्थ परामर्श या गणना करना है। इसलिए शाब्दिक अनुवाद में जंतर मंतर का अर्थ है

2.भारत में जंतर मंतर कितने हैं?

जंतर-मंतर पत्थर से निर्मित वास्तुकला है, जो दिन के समय को मापता है। भारत में पांच जंतर-मंतर हैं, जो जसपुर, दिल्ली, मथुरा, वाराणसी और उज्जैन में स्थित हैं। जंतर मंतर में विभिन्न वास्तु और ज्योतिषीय उपकरण हैं जिन्होंने दुनिया भर के इतिहासकारों, खगोलविदों और वास्तुकारों का ध्यान आकर्षित किया है

Important FAQ

3.सबसे पुराना जंतर मंतर कौन सा है?
दिल्ली का जंतर-मंतर समरकंद की वेधशाला से प्रेरित है। मोहम्मद शाह के शासन काल में हिन्दु और मुस्लिम खगोलशास्त्रियों में ग्रहों की स्थिति को लेकर बहस छिड़ गई थी।

5.जंतर मंतर का नाम कैसे पड़ा?

जंतर नाम एक संस्कृत शब्द यंत्र से लिया गया है, जिसका अर्थ है “साधन, मशीन”, और मंत्र से मंत्र भी एक संस्कृत शब्द “परामर्श, गणना” )। इसलिए जंतर मंतर का शाब्दिक अर्थ है ‘गणना यंत्र’। .

Also, Read – https://www.corelclass.com

Read Also – CorelDraw Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

Important Link – DFA Course Fees, Syllabus, Duration, Scope, Jobs, and Institute

Read Also – All_about Ajanta Cave, Cave built by, Location, Jal Shakti Ministry