HomeVedantSri Varanasi ArticleGuru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes,
(Last Updated On: November 21, 2022)

Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas Jayanti, Prakash parv, quotes

Hi guys In This post we Read About Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas In this post, I am going to tell you about the ayanti, Prakash parv ,quotes etc. So This Post will Give you Information about Shaheedi diwas

Guru Tegh bahadur

गुरु तेग़ बहादुर का जन्म 1 अप्रैल 1621 को अमृतसर, पंजाब मे हुआ था। उनके पिता का नाम गुरु हरगोविंद सिंह और माता का नाम नानकी देवी था। वे अपने माता – पिता की पाँचवीं संतान थे। उनका बचपन का नाम त्यागमल था

गुरु तेग़ बहादुर जी सिक्खों के नौवें गुरु थे। गुरु तेगबहादुरजी को प्रेम से कहा जाता है- ‘हिन्द की चादर’ भी कहा जाता है। उनकी बहुत सी रचनाएँ ग्रंथ साहब के महला 9 में संग्रहित हैं। उन्होंने शुद्ध हिन्दी में सरल और भावयुक्त ‘पदों’ और ‘साखी’ की रचनायें की। तेग़ बहादुर सिंह 20 मार्च, 1664 को सिक्खों के गुरु नियुक्त हुए थे और 24 नवंबर, 1675 तक गद्दी पर आसीन रहे। तेग़ बहादुर सिंह 20 मार्च, 1664 को सिक्खों के गुरु नियुक्त हुए थे और 24 नवंबर, 1675 तक गद्दी पर आसीन रहे।

  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 1
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 11
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे
  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 2
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 12
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Shaheedi diwas

हर साल 24 नवबर को सिक्खो के नौवे गुरु तेग बहादुर जी की पुण्यतिथि को शहीदी के रूप मे मनाया जाता है इस साल 2022 मे श्री गुरु तेग बहादुर शहादत दिवस 24 नवबर को गुरु के दिन है

सिख धर्म के नौवें गुरु श्री तेग बहादुर साहिब का 400वां प्रकाश पर्व है तेज बहादुर का जन्म वैशाख मास की कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। तेज बहादुर जी के बचपन का नाम त्यागमल था। उनके पिता का नाम गुरु हरगोबिंद सिंह था। गुरु श्री तेग बहादुर साहिब, हगोविंद के पांचवें पुत्र थे और सिखों के आठवें गुरु हरिकृष्ण राय के निधन के बाद उनको गुरु बनाया गया। इन्होंने आनंदपुर साहिब का निर्माण किया और यहीं पर रहने लगे थे।

  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Read Also :-  CCC Course Institute, Top 10 Best Scopes, Syllabus, Fees, Duration and Job Near Me
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 3
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 13
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे
  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 4
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 14
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Quotes

  • सफलता कभी अंतिम नही होती, विफलता कभी घातक नही होती इनमे जो मायने रखता है वो है सहसा।
  • महान कार्य छोटे – छोटे कार्य से बने होते है।
  • सभी जीवित पाणियों के पति सम्मान अहिंसा है
  • प्यार पर एक और बार हमेशा एक और बार यकीन करने का साहस रखिए
  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 5
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 15
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas Jayanti, Prakash parv ,quotes
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 16
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Prakash parv

गुरु तेग बहादुर जयंती 2022 या प्रकाश पर्व सिख धर्म के नौवें गुरु के जन्म को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है। गुरु तेग बहादुर जी गुरु हरगोबिंद के सबसे छोटे पुत्र थे। उनका जन्म 1621 में हुआ था। इस वर्ष उनकी जयंती का 400वां साल होगा तेग बहादुर जी को एक सम्माननीय विद्वान और कवि माना जाता है।

जिन्होंने सिख धर्म की पवित्र पुस्तक श्री गुरु ग्रंथ साहिब में बहुत योगदान दिया। उन्हें योद्धा गुरु के रुप में भी याद किया जाता है। उन्होंने धार्मिक स्वतंत्रता के लिए अथक संघर्ष किया। वह मानवता, बहादुरी, मृत्यु, गरिमा और बहुत कुछ के बारे में अपने विचारों और शिक्षाओं के लिए जाने जाते हैं। जिन्हें गुरु ग्रंथ साहिब में शामिल किया गया है। जैसे कि गुरु तेग बहादुर जी का विशेष त्योहार आने को है। हम आपके लिए गुरु तेग बहादुर सिंह के सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचार लेकर आए हैं।

  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Read Also :-  jQuery Course Details, Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes & Jobs
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 6
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 17
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे
  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 7
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 18
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

Jayanti

सिख धर्म के नौवें गुरु श्री तेग बहादुर साहिब का 400वां प्रकाश पर्व है तेज बहादुर का जन्म वैशाख मास की कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। तेज बहादुर जी के बचपन का नाम त्यागमल था। उनके पिता का नाम गुरु हरगोबिंद सिंह था।

जिन्होंने सिख धर्म की पवित्र पुस्तक श्री गुरु ग्रंथ साहिब में बहुत योगदान दिया। उन्हें योद्धा गुरु के रुप में भी याद किया जाता है। उन्होंने धार्मिक स्वतंत्रता के लिए अथक संघर्ष किया। वह मानवता, बहादुरी, मृत्यु, गरिमा और बहुत कुछ के बारे में अपने विचारों और शिक्षाओं के लिए जाने जाते हैं।

  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 8
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 19
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे
  • Basically, click करके नीचे दिये गये Image को Download करे
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 9
Guru Tegh Bahadur Shaheedi diwas, Jayanti, Prakash parv, quotes, 20
  • Firstly, नीचे दिये गये लिंक से Image को download करे

FAQ – Frequently Asked Questio

Read Also :-  Bill Receipt MS Excel Project-10 Video

1.गुरु तेग बहादुर जी से हमें क्या शिक्षा मिलती है?
किसी ने उनकी अहित करने की कोशिश भी की तो उन्होंने अपनी सहनशीलता, मधुरता, सौम्यता से उसे परास्त कर दिया। उनके जीवन का प्रथम दर्शन यही था कि धर्म का मार्ग सत्य और विजय का मार्ग है। शांति क्षमा सहनशीलता के गुणों वाले गुरु तेग बहादुर जी ने लोगों को प्रेम, एकता का व भाईचारे का संदेश दिया।

2.गुरु तेग बहादुर के सहयोगी बलिदानी कौन थे?
इसके बाद गुरु जी के साथ दिल्ली गए तीन सिखों भाई मती दास, भाई सती दास और भाई दयाला को यातनाएं देकर शहीद कर दिया गया

3.24 नवंबर को कौन सा शहीद दिवस है?
हर साल, 24 नवंबर को सिख धर्म के सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर (Master Tegh Bahadur) के शहादत दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Visit at – https://www.corelclass.com

Also, Read it – CorelDraw Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

Read Also – Tally Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

Also Read – CCC Course Fees, Syllabus, Duration, Scope, Jobs, and Institute

Important Link – DFA Course Fees, Syllabus, Duration, Scope, Jobs, and Institute

Visit – ADCA Course Fees, Duration, Scope, Syllabus, Admission, Institutes

mm
VedantSri Onlinehttps://vedantsri.net
This is VedantSri Online Support System, Which update class related Tricks, Tips, Tutorials and Online Test Of CCC.
Related Post

Latest Post

Popular Course

Popular Post

Top Post