8 Point Before Learn Computer Course

Review Rating
Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 5]

8 Point Before Learn Computer Course

8 Point Before Learn Computer Course:-आगे कुछ भी बताने से पहले आपको यह समझ लेना चाहिए की ऐसे क्या कारण है जिसके वजह से ज्यादतर लोगो के पास टेक्निकल डिग्री, डिप्लोमा व सर्टिफिकेट होने के बावजूद करियर बनाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है | जिनमे से कुछ निम्न है:-

(कम्प्यूटर सीखने के दौरान इन महत्वपूर्ण बातो पर ध्यान दें:-

कम्प्यूटर कोर्सेज सीखने के दौरान यह गलती न करें |

कंप्यूटर की डिमांड को देखते हुए आप कम्प्यूटर कोर्सेज की ट्रेनिंग लेने का फैसला करते है, आप कोचिंग, इंस्टिट्यूट में जाकर कम्प्यूटर का बेसिक से एडवांस की जानकारी लेते है  कोर्स कम्पलीट होने पर आप जॉब के लिए इंटरव्यू में जाते है जहाँ आपको एक मुख्य प्रश्न का सामना करना पड़ता है की “आप कम्प्यूटर पर जाब करने वाले है अतः आपकी टाइपिंग स्पीड कितनी है?” अक्सर इंटरव्यू लेने वाला आपकी टाइपिंग स्पीड पूछने के बजाय सीधे आपसे कोई  एकाध वाक्य लिखने के लिए कह देता है और इंटरव्यू लेने वाला आपको टाइपिंग करते हुए मात्र नीचे दिए गए तीन बातो पर ध्यान देकर चेक कर लेता है की आपकी टाइपिंग स्पीड जॉब के लिए सही है या नही |

8-Point Before Learn Computer-Course

टाइपिंग स्पीड चेक करने के मुख्य पॉइंट

1-की आप कीबोर्ड के तरफ बिना देखे टाइपिंग कर लेते है या देख-देखकर |

2-की आप सभी उंगलियों के प्रयोग से टाइपिंग करते है या सिर्फ एकाध उंगलियों से |

3-की आपका “वर्ड पर मिनट” (wpm) स्पीड कितना फ़ास्ट या स्लो है, अक्सर सरकारी तथा प्राइवेट नौकरीयों में न्यूनतम टाइपिंग स्पीड 30 (wpm) तक माँगा जाता है |

समाधान:- वेदांतश्री’ कम्प्यूटर स्कालरशिप कोर्सेज के साथ अलग से 90 दिन की निशुल्क टाइपिंग ट्रेनिंग की सुविधा उपलब्ध करातें है | जिससे की आप कम्प्यूटर कोर्सेज की ट्रेनिंग के साथ-साथ निशुल्क टाइपिंग ट्रेनिंग भी कर सके व इंटरव्यू में खुद को टाइपिंग स्पीड टेस्ट में सफल साबित कर सकें |

8 Point Before Learn Computer Course

दूसरी गलती’ आज के समय में 10 वर्ष पुरानी चीजे सीखना

अक्सर देखा जाता है की कम्प्यूटर संसथान कोर्सेज को सीखाने के दौरान 10-15 वर्ष पुराने एप्लीकेशन को सिखाते है उदाहरण के लिए CCC Course में MS Office का पुराना 2007 वर्शन सीखाना, जबकि कंपनी, फर्म, आर्गेनाईजेशन में MS Office के नए 2019 वर्शन पर काम किया जाता है|

कम्प्यूटर कोर्सेज सीखने के दौरान इस बात पर ध्यान देना जरुरी होता है की लेटेस्ट एप्लीकेशन जैसे की MS word, Excel, PowerPoint का 2019 वर्शन, Tally ERP का लेटेस्ट वर्शन, Adobe Photoshop CC 2019 लेटेस्ट वर्शन, CorelDraw 2019 इत्यादी का लेटेस्ट वर्शन ही सीखे, तथा नए वर्शन सीखने में एक और खास बात होती है की आप नये के साथ-साथ पुराने सारे वर्शन सीखते है |

लेटेस्ट वर्शन का ध्यान न देने के कारण जॉब, इंटरव्यू तथा नौकरी में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है |

समाधान:- वेदांतश्री’ कम्प्यूटर स्कालरशिप कोर्सेज के अंतर्गत लेटेस्ट वर्शन के एप्लीकेशन पर ट्रेनिंग की सुविधा मुहैया कराते है, जिससे की आज के इस बदलते दौर में आप खुद को दो कदम आगे रख सकें | 8 Point Before Learn Computer Course

Certificate Verification System

कोर्स कम्पलीट होने के पश्चात प्राप्त कम्पलीशन सर्टिफिकेट का ऑनलाइन वेरिफिकेशन सिस्टम होना चाहिए ताकि किसी भी इंटरव्यू व जॉब में आपके सर्टिफिकेट की सत्यता को ऑनलाइन वेरीफाई करके जांचा जा सके |

समाधान:- वेदांतश्री’ के अंतर्गत कोर्स कम्पलीट होने पर सर्टिफिकेट वेरिफिकेशन की निशुल्क ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध कराई जाती है, जिसका लिंक निम्न है  www.vedantsri.net/verify-certificate

Online Support with www.vedantsri.net

कम्प्यूटर सिखाने का जो पारंपरिक तौर-तरीका है उसमें थ्योरी और लैब में एक-दो घंटे की क्लास देकर कम्प्यूटर कोर्सेज सीखाया जाता है, छात्रो को दिक्कत तब होती है जब क्लास के अलावा विषय से सम्बंधित एक्स्ट्रा नॉलेज के लिए अगले दिन के क्लास का इंतजार करना पड़ता है|

जबकि कम्प्यूटर सिखाने का सबसे प्रभावशाली तरीका यह है लैब व थ्योरी क्लास के बाद भी घर इत्यादी पर छात्र को जब समय मिले तब वह क्लास से सम्बंधित विषयो पर एक्स्ट्रा जानकारियों को सिख सकें |

क्योकी करियर अथवा भविष्य बनाने से सम्बंधित पढाईयो को प्रतिदिन मात्र एक-दो घंटे कि क्लास देकर नही सिखाया जा सकता बल्कि सीखाने का सिस्टम ऐसा हो जिसमे छात्र प्रतिदिन क्लास के बाद भी जब चाहे तब’ वह हर घंटे सीख सके, अभ्यास कर सके और खुद को करियर के लिए बेहतर बना सके|

समाधान:- वेदांतश्री’ थ्योरी, प्रोजेक्ट व लैब क्लासेज में कम्प्यूटर कोर्सेज सिखाने के साथ-साथ www.vedantsri.net ब्लॉग पर छात्रो के लिए विषय से सम्बंधित एक्स्ट्रा व आवश्यक टिप्स, ट्रिक्स, ट्यूटोरिअल्स व क्लासेज को नियमित अपडेट करतें है |

8 Point Before Learn Computer Course

Learn Project Based, Not Knowledge Based.

कम्प्यूटर कोर्सेज को सीखाने के दो तरीके होते है जो की निम्न है:-

1-नॉलेज बेस्ड

2-प्रोजेक्ट बेस्ड

आईये जानते है की उपरोक्त दोनों तरीके में क्या अंतर है व कौन सा तरीका खासकर करियर बनाने के लिए ही होता है

क्या है नॉलेज बेस्ड :-कम्प्यूटर कोर्सेज को सीखाने के दौरान इस तरीके द्वारा थ्योरी और लैब की मदद से कम्प्यूटर सिखाया जाता है, जिसमे थ्योरी क्लास में कांसेप्ट का नोट्स बनवाना व कांसेप्ट को समझाना सामिल रहता है तथा लैब क्लास में प्रैक्टिस कराना शामिल रहता है | सिखाने के इस पहले तरीके को पढ़ कर ऐसा लग रहा होगा की सबकुछ तो सिखाया जा रहा है 

मगर सच्चाई अलग है इस तरीके से कम्यूटर की अधूरी जानकारी प्राप्त होती है पूरी नहीं | इस तरीके में कम्प्यूटर कोर्सेज की नॉलेज तो मिलती है मगर आप जॉब के लिए तैयार नही होते |

क्या हैं प्रोजेक्ट बेस्ड :- कम्प्यूटर कोर्सेज को सिखाने का यह एक प्रभावशाली तरीका है जिसमे कांसेप्ट को चार अलग-अलग तकनीक के द्वारा मस्तिष्क में उतारा जाता है इसके अंतर्गत थ्योरी क्लास में कांसेप्ट का नोट्स बनवाना, कांसेप्ट को समझाना, व जॉब सम्बंधित प्रोजेक्ट्स को तैयार कराना तथा लैब में प्रैक्टिकल कराना अनिवार्य होता है | इस तरीके के द्वारा छात्र की सिर्फ जानकारी ही नही बढती है बल्कि आप जॉब के लिए भी खुद को तैयार होते है |

समाधान:-वेदांतश्री’ कम्प्यूटर कोर्सेज को सिखाने के दौरान प्रोजेक्ट बेस्ड ट्रेनिंग का उपयोग करते है जिससे की छात्र कम्प्यूटर नॉलेज लेने के साथ-साथ स्वम को जॉब के लिए भी तैयार कर सकें (8 Point Before Learn Computer Course)

Free CCC Class + Typing Class + Spoken Class

आजकल कम्प्यूटर क्षेत्र में कोई भी जॉब हो परन्तु कुछ ऐसे नॉलेज है जिनको इंटरव्यू में जरुर चेक कीया जाता है , जैसे की टाइपिंग स्पीड, CCC सर्टिफिकेट, इंग्लिश लैंग्वेज तथा पर्सनालिटी डेवलपमेंट आदि,

कम्प्यूटर कोर्सेज के साथ-साथ इन कोर्सेज को भी सीखना जरूरी होता है जिसके लिए आपको अलग से पैसे खर्च करने पड़ते है |

समाधान:-नौकरी में इन कोर्सेज की जरुरतो को देखते हुए वेदांतश्री कम्प्यूटर के स्कालरशिप कोर्सेज के साथ Typing Class, CCC Class, PD Class तथा English Spoken की क्लास निशुल्क उपलब्ध करातें हैं| (8 Point Before Learn Computer Course)

Internship Training Program

अक्सर कम्प्यूटर सम्बंधित जॉब इंटरव्यू में कम्प्यूटर नॉलेज के साथ-साथ आपसे वर्क एक्स्पेरिंस लैटर या सर्टिफिकेट की मांग की जाती है जिसमे इंटरव्यू लेने वाला पहले मेंशन करता है की नौकरी उस कैंडिडेट को दी जाये जिसके पास कम्प्यूटर कोर्सेज की सिर्फ जानकारी ही न हो बल्कि कार्य करने का एक्सपीरियंस भी हो तो इस स्थिति में नौकरी के लिए पहले से ही अनुभव का होना अनिवार्य हो जाता है|

समाधान:-आपके इस जरुरत को देखते हुए वेदांतश्री  स्कालरशिप कोर्सेज के साथ न्यूनतम 6 माह तक का वर्क एक्सपीरियंस ट्रेनिंग उपलब्ध कराते है | तथा ट्रेनिंग पूर्ण करने पर सर्टिफिकेट भी उपलब्ध करातें हैं |

Digital Training Classes

कम्प्यूटर कोर्सेज को सीखने के दौरान सबसे जरुरी होता है सिखाने का तरीका अर्थात मुख्यरूप से थ्योरी क्लास में किस तरीके से व क्या इक्विपमेंट लगाकर कम्प्यूटर कोर्सेज को सिखाया जा रहा है

अक्सर कुछ जगहों पर कम्प्यूटर सिखाने के लिए थ्योरी क्लास में वाइट बोर्ड तथा छोटे LED स्क्रीन का प्रयोग किया जाता है, जिससे कांसेप्ट क्लियर क्रिस्टल नही हो पाता है,

समाधान:-आपके मस्तिष्क में कांसेप्ट अच्छे से उतरे इसके लिए वेदांतश्री का मानना है की थ्योरी क्लास में पूरी तरह से डिजिटली पढायी होनी चाहिए और इसी सोच के साथ वेदांतश्री अपने थ्योरी क्लासेज में HD प्रोजेक्टर का प्रयोग व फोर-वेज़-तकनीक द्वारा कम्प्यूटर कोर्सेज को पढ़ाने पर कार्य करतें है|

8 Point Before Learn Computer Course

2 thoughts on “8 Point Before Learn Computer Course

Leave a Reply