Review Rating
Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]

IT-Industry GD Topics Spoken

  1. Growth -बृद्धि
  2. Leaps -छलाँग
  3. Developing nation -विकासशील देश
  4. Massive -बड़े स्तर पर
  5. Employing -रोज़गार देना
  6. 10 Million -एक करोड़
  7. Yet -फिर भी
  8. Surpassing -पार करते हुए
  9. Expectation -अपेक्षा
  10. Revenues -राजस्व
  11. Contribute -योगदान करना
  12. GDP

When the growth of the internet was taking quantum leaps in the 1990s, nobody thought that a developing nation like India would cash in so much on the web boom and build a massive industry around it employing more than 10 million people. Yet surpassing expectations India did it. The Indian IT industry today made revenues of about $160 Billion in the year 2017 alone and manages to contribute 7.7% in India’s massive GDP. 

जब 1990 के दशक में इंटरनेट की वृद्धि क्वांटम छलांग ले रही थी, तो किसी ने भी नहीं सोचा था कि भारत जैसा विकासशील देश वेब बूम पर इतना अधिक नकदी देगा और इसके चारों ओर एक बड़े पैमाने पर उद्योग का निर्माण करेगा और 10 मिलियन से अधिक लोगों को रोजगार देगा। फिर भी भारत की अपेक्षाओं को पार करते हुए। भारतीय आईटी उद्योग ने आज अकेले वर्ष 2017 में लगभग 160 बिलियन डॉलर का राजस्व कमाया और भारत के विशाल सकल घरेलू उत्पाद में 7.7% का योगदान करता है।

  1. Information technology -सूचना प्रौद्योगिकी
  2. Information technology-enabled services -सूचना प्रौद्योगिकी सक्षम सेवायें
  3. Sector -क्षेत्र
  4. Integral Part -अभिन्न अंग
  5. undergoing –
  6. rapid –
  7. evolution –
  8. Indian Business Standards –

The Information technology and Information Technology enabled Services (IT-ITeS) sector is a field forming an integral part of India’s corporate today. It is undergoing rapid evolution and is helping to change the shape of Indian Business Standards. This sector includes software development, consultancies, software management, online services and business process outsourcing (BPO).

  1. exaggeration -अतिश्योक्ति
  2. exponential pace -तेजी के साथ बढ़ा
  3. exploits –
  4. export -निर्यात
  5. employability -रोजगार क्षमता
  6. breathtaking pace -लुभावने गति
  7. due to -के कारण
  8. following -निम्नलिखित
  9. pace -गति

It wouldn’t be an exaggeration to say that India grew with exponential pace in the IT industry. India’s export exploits in the IT industry is now about $70 Billion and employability of about 2.8 million. India has grown with breathtaking pace in the IT industry due to the following reasons according to a NASSCOM-Mckinsey report:- IT-Industry GD Topics Spoken

  1. Abundant -प्रचुर
  2. talent -प्रतिभा
  3. Creation -निर्माण
  4. urban -शहरी
  5. infrastructure -आधारभूत संरचना
  6. Operational -कार्य संबंधित
  7. excellence श्रेष्ठता
  8. Conducive -अनुकूल
  9. environment -माहौल
  10. Continued growth -निरंतर वृद्धि
  11. domestic -घरेलू
  • Abundant talent in India
  • Creation of urban infrastructure
  • Operational excellence
  • Conducive business environment
  • Continued growth in domestic IT sector
  1. establishment -स्थापना
  2. partnership -साझेदारी

India’s IT services industry was born in Mumbai in 1967 with the establishment of the TATA Group in partnership with Burroughs. The first export zone, SEEPZ- The precursor to the modern-day IT park- was established in Mumbai in 1973. More than 80% of the country’s software exports were from SEEPZ in the 1980s.

The growth in the IT industry skyrocketed with the world wide web turning up on the scene in the 1990s. The Indian economy too underwent major economic reforms in 1991. It led to a new era of globalization and economic integration, IT industry was greatly benefited due to the economic transformation of the country and since then it has grown leaps and bounds. IT-Industry GD Topics Spoken

सूचना प्रौद्योगिकी और सूचना प्रौद्योगिकी सक्षम सेवाएं (आईटी-आईटीईएस) क्षेत्र आज भारत के कॉर्पोरेट का एक अभिन्न अंग है। यह तेजी से विकास कर रहा है और भारतीय व्यापार मानकों के आकार को बदलने में मदद कर रहा है। इस सेक्टर में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, कंसल्टेंसी, सॉफ्टवेयर मैनेजमेंट, ऑनलाइन सर्विसेज और बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO) शामिल हैं।

यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि भारत आईटी उद्योग में तेजी के साथ बढ़ा है। आईटी उद्योग में भारत का निर्यात अब 70 बिलियन डॉलर और लगभग 2.8 मिलियन की रोजगार क्षमता है। NASSCOM-Mckinsey की रिपोर्ट के अनुसार निम्नलिखित कारणों से भारत आईटी उद्योग में लुभावने गति से बढ़ा है: –

  • भारत में प्रचुर प्रतिभा
  • शहरी बुनियादी ढांचे का निर्माण
  • कार्य श्रेष्ठता
  • अनुकूल कारोबारी माहौल
  • घरेलू आईटी क्षेत्र में निरंतर वृद्धि

भारत के आईटी सेवा उद्योग का जन्म मुंबई में 1967 में बुरॉग्स की साझेदारी में टाटा समूह की स्थापना के साथ हुआ था। पहला निर्यात क्षेत्र, एसईईपीजेड- आधुनिक दिन आईटी पार्क का अग्रदूत, 1973 में मुंबई में स्थापित किया गया था। देश के 80% से अधिक सॉफ्टवेयर निर्यात 1980 के दशक में एसईईपीजेड से हुए थे।

1990 के दशक में आईटी उद्योग की विकास दर दुनिया भर में फैल गई। 1991 में भारतीय अर्थव्यवस्था भी बड़े आर्थिक सुधारों से गुज़री। इसने वैश्वीकरण और आर्थिक एकीकरण के एक नए युग का नेतृत्व किया, देश के आर्थिक परिवर्तन के कारण आईटी उद्योग को बहुत लाभ हुआ और तब से यह छलांग और सीमा तक बढ़ गया है।

India is the largest exporter of IT services today. Exports dominate the IT industry and constitute about 79% of the total revenue. The domestic IT industry also has a robust growth with significant revenue. The top 5 IT service providers in India are- Tata Consultancy Services (TCS), Infosys, Cognizant, WIPRO and HCL Technologies.

Features of the IT Industry in India include:-

The exports in the IT industry accounted for about 25% of the total Indian exports in the FY2012 rising from less than 4% in the FY1998.

TIDEL Park, situated in Chennai is one of Asia’s largest IT parks. It was established to promote the Information Technology Services in the state of Tamil Nadu.

Cities of India which have become IT hubs include- Bengaluru, Pune, Chennai, Hyderabad, Trivandrum, Chandigarh and Mohali.

TCS, India’s IT giant is the world’s third-largest employer in the technology sector. TCS is also India’s fifth-biggest employer.

In about 10 years the no. of employees in It sector is estimated to be doubled from 1 crore to 2 crores.

भारत आज आईटी सेवाओं का सबसे बड़ा निर्यातक है। निर्यात आईटी उद्योग पर हावी है और कुल राजस्व का लगभग 79% है। घरेलू आईटी उद्योग भी महत्वपूर्ण राजस्व के साथ एक मजबूत वृद्धि है। भारत में शीर्ष 5 आईटी सेवा प्रदाता हैं- Tata Consultancy Services (TCS), Infosys, Cognizant, WIPRO और HCL Technologies।

भारत में आईटी उद्योग की विशेषताओं में शामिल हैं: –

आईटी उद्योग में निर्यात वित्त वर्ष २०१२ में कुल भारतीय निर्यात का लगभग २५% था, जो वित्त वर्ष २०१ the में ४% से कम था।

चेन्नई में स्थित TIDEL पार्क, एशिया के सबसे बड़े आईटी पार्कों में से एक है। यह तमिलनाडु राज्य में सूचना प्रौद्योगिकी सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए स्थापित किया गया था।

भारत के जो शहर आईटी हब बन गए हैं उनमें शामिल हैं- बेंगलुरु, पुणे, चेन्नई, हैदराबाद, त्रिवेंद्रम, चंडीगढ़ और मोहाली।

टीसीएस, भारत का आईटी दिग्गज, प्रौद्योगिकी क्षेत्र में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा नियोक्ता है। TCS भारत का पांचवा सबसे बड़ा नियोक्ता भी है।

लगभग 10 वर्षों में नहीं। कर्मचारियों के लिए इस क्षेत्र में 1 करोड़ से 2 करोड़ तक दोगुना होने का अनुमान है।

FUTURE OF THE IT INDUSTRY IN INDIA

People believing that India has seen the best of the IT industry are in for a surprise. India along with the rest of the world will see the IT and IT-enabled services industry not only developing but also outgrowing other industries with the pace of its expansion.

With the emergence of new path-breaking technologies like Artificial Intelligence, Internet of Things, Blockchain, Machine Learning, modern data science practices, cloud computing and big data and introduction and implementation of Microservices, Developer-Operations (DevOps) and automation in most of the industrial sectors the future of IT industry in India is bright.

It is estimated that in the coming 10 years the no. of jobs in the IT industry will get doubled along with better academic facilities, greater research for the subject of Information Technology and its practices.

भारत में आईटी उद्योग का भविष्य

लोगों का मानना है कि भारत ने आईटी उद्योग को सबसे अच्छे रूप में देखा है। शेष विश्व के साथ भारत, आईटी और आईटी सक्षम सेवाओं के उद्योग को न केवल विकसित कर रहा है, बल्कि इसके विस्तार की गति से अन्य उद्योगों को भी पछाड़ देगा।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ब्लॉकचैन, मशीन लर्निंग, आधुनिक डेटा साइंस प्रैक्टिस, क्लाउड कंप्यूटिंग और बिग डेटा और माइक्रोसर्विस, डेवलपर-ऑपरेशंस (डेवोप्स) के कार्यान्वयन और कार्यान्वयन जैसे नई पथ-ब्रेकिंग तकनीकों के उभरने के साथ अधिकांश में स्वचालन औद्योगिक क्षेत्र भारत में आईटी उद्योग का भविष्य उज्ज्वल है।

यह अनुमान है कि आने वाले 10 वर्षों में नहीं। सूचना प्रौद्योगिकी और इसकी प्रथाओं के विषय में बेहतर शैक्षणिक सुविधाओं के साथ आईटी उद्योग में नौकरियों की संख्या दोगुनी हो जाएगी।

IT-Industry GD Topics Spoken

Some important points related to the future of IT industry in India are:-

Automation is expected to create majority of the upcoming jobs in the IT sector.

Make in India and other such government schemes will help to create a variety of new jobs in the field of IT and IT-enabled services.

All industrial sectors will start making greater use of Information Technology to speed up their growth or enhance their efficiency.

IT and its tools will help in creating more jobs in other sectors as well like- banking, manufacturing, finance, sales.

IT-related startups will flourish, especially those with innovative products like chatbots etc.

IT industry is one of the biggest employers in India.

भारत में आईटी उद्योग के भविष्य से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु हैं: –

ऑटोमेशन से आईटी क्षेत्र में आगामी नौकरियों के बहुमत के निर्माण की उम्मीद है।

मेक इन इंडिया और ऐसी अन्य सरकारी योजनाओं से आईटी और आईटी सक्षम सेवाओं के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के नए रोजगार सृजित करने में मदद मिलेगी।

सभी औद्योगिक क्षेत्र अपने विकास को गति देने या अपनी दक्षता बढ़ाने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी का अधिक उपयोग करना शुरू कर देंगे।

आईटी और इसके उपकरण अन्य क्षेत्रों के साथ-साथ बैंकिंग, विनिर्माण, वित्त, बिक्री में और अधिक नौकरियां पैदा करने में मदद करेंगे।

आईटी से संबंधित स्टार्टअप पनपेंगे, खासकर उन लोगों के साथ जिनमें नवीन उत्पाद जैसे चैटबॉट्स आदि।

आईटी उद्योग भारत में सबसे बड़े नियोक्ताओं में से एक है।

Major challenges that the IT Industry in India will be facing in the future are:- IT-Industry GD Topics Spoken

High unemployment rate of IT professionals- According to corporate surveys, only 20% of the Indian engineering graduates are considered employable because of lack of skills and absence of right attitude.

Changing Technology and trends- Global advisory firm, Mckinsey & Company declared that nearly half of the workforce in Indian IT sector will be irrelevant over the next 3-4 years. It was backed by Capgemini CEO declaring 65% of workforce is not trainable and not keen on upgrading their skills.

Loss of jobs due to automation- According to Horses for Sources, Indian Information Technology sector is likely to lose around 6,40,000 jobs due to automation.

Conventional Jobs to be replaced- Typical manual jobs are expected to be taken over by automatic coding and cloud computing technologies.

Uncertain future- Large majority of the workforce today is engaged in jobs that are expected to be non-existent in the coming future. Hiring too will slow down in the near future.

World Bank report- World Bank report titled ‘Digital Dividend’ declares that 69% of work in India can get automated. This may lead to a sudden crisis in the Indian IT industry. IT-Industry GD Topics Spoken

भारत में आईटी उद्योग भविष्य में आने वाली प्रमुख चुनौतियाँ हैं: –

आईटी पेशेवरों की उच्च बेरोजगारी दर- कॉर्पोरेट सर्वेक्षणों के अनुसार, कौशल की कमी और सही दृष्टिकोण की अनुपस्थिति के कारण केवल 20% भारतीय इंजीनियरिंग स्नातकों को रोजगार योग्य माना जाता है।

बदलती प्रौद्योगिकी और रुझान- वैश्विक सलाहकार फर्म, मैकिंसे एंड कंपनी ने घोषणा की कि भारतीय आईटी क्षेत्र में लगभग आधे कार्यबल अगले 3-4 वर्षों में अप्रासंगिक हो जाएंगे। यह Capgemini सीईओ द्वारा घोषित किया गया था कि 65% कर्मचारियों की संख्या प्रशिक्षण योग्य नहीं है और उनके कौशल को उन्नत करने के लिए उत्सुक नहीं है।

ऑटोमेशन के कारण नौकरियों का नुकसान- हॉर्स फॉर सोर्स के अनुसार, भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में स्वचालन के कारण लगभग 6,40,000 नौकरियों के खोने की संभावना है।

पारंपरिक नौकरियों को प्रतिस्थापित किया जाएगा- विशिष्ट मैनुअल नौकरियों को स्वचालित कोडिंग और क्लाउड कंप्यूटिंग प्रौद्योगिकियों द्वारा ले जाने की उम्मीद है।

अनिश्चित भविष्य- बड़ी संख्या में कार्यबल आज उन नौकरियों में लगे हुए हैं जो आने वाले भविष्य में गैर-मौजूद होने की उम्मीद है। निकट भविष्य में किराए पर लेना भी धीमा हो जाएगा।

विश्व बैंक की रिपोर्ट- report डिजिटल डिविडेंड ’शीर्षक से विश्व बैंक की रिपोर्ट बताती है कि भारत में 69% कार्य स्वचालित हो सकते हैं। इससे भारतीय आईटी उद्योग में अचानक संकट आ सकता है।

The road ahead for Information Technology industry in India

IT can undoubtedly be considered as one of the most emerging fields yet the challenges are many to tap this resource and use its full potential for the development of the country.

With time Information Technology promises to be less of an isolated technology and is directed towards being an integral part of all development in almost all leading sectors. India, today is regarded as the back-office of the world owing to IT and ITeS industry booming in India.

It is known that anyone resisting change perishes and it is no mystery that as the world of Information Technology is undergoing major transition globally from simple software development to integrated solutions involving emerging technology stack like cloud computing, Big data and artificial intelligence, India must prepare its workforce accordingly, stay open to new policies and flexible to their approach regarding the industry.

If India manages to transit smoothly and create a skilled workforce armed with expertise in core as well as emerging technologies, establishing more product-based startups driven by technology and innovation there will be no stopping India in the Information Technology industry for a long time to come.

IT-Industry GD Topics Spoken

भारत में सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग के लिए आगे की रोड मैप

आईटी को निस्संदेह सबसे उभरते हुए क्षेत्रों में से एक के रूप में माना जा सकता है, फिर भी इस संसाधन को टैप करने और देश के विकास के लिए अपनी पूरी क्षमता का उपयोग करने के लिए चुनौतियां हैं।

समय के साथ सूचना प्रौद्योगिकी एक अलग प्रौद्योगिकी के कम होने का वादा करती है और लगभग सभी अग्रणी क्षेत्रों में सभी विकास का एक अभिन्न अंग होने की दिशा में निर्देशित होती है। भारत, आज भारत में आईटी और आईटीईएस उद्योग के कारण दुनिया का सबसे पीछे का कार्यालय माना जाता है।

यह ज्ञात है कि कोई भी परिवर्तन को नष्ट करता है और यह कोई रहस्य नहीं है कि सूचना प्रौद्योगिकी की दुनिया सरल सॉफ्टवेयर विकास से विश्व स्तर पर प्रमुख संक्रमण के दौर से गुजर रही है, जिसमें क्लाउड कंप्यूटिंग, बिग डेटा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे उभरते प्रौद्योगिकी स्टैक शामिल हैं, भारत को इसकी तैयारी करनी चाहिए तदनुसार कार्यबल, नई नीतियों के लिए खुले रहें और उद्योग के बारे में उनके दृष्टिकोण के लिए लचीला।

यदि भारत सुचारु रूप से पारगमन करने और एक कुशल कार्यबल बनाने के साथ-साथ कोर में विशेषज्ञता के साथ-साथ उभरती हुई प्रौद्योगिकियों का निर्माण करने का प्रबंधन करता है, तो प्रौद्योगिकी और नवाचार द्वारा संचालित अधिक उत्पाद आधारित स्टार्टअप स्थापित करना, आने वाले लंबे समय तक सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग में भारत को रोक नहीं पाएगा।

IT-Industry GD Topics Spoken

About VedantSri

 IT-Industry GD Topics Spoken

VedantSri Computer Institute provides best Computer CoursesClasses and Training in Varanasi. There is NEILIT Courses CCC, BCC, O’level, Certificates and Diploma Computer Courses available with best training materials. Also Available Top 100 Best Computer Courses, For Example, OMDCAADCADTPDFAADAMADTP, ADFA, DCEMS Office. VedantSri Computer Coaching update CCC Online Test 2019 in vedantsri.net. There are some important computer Courses for jobs CCC ClassTyping, Internship And Spoken English Available Free of cost with Offer. More than 50 Computer Courses which are available with 50% Fee Discount in VedantSri Varanasi. You can get the Best Digital Marketing Course in Varanasi Institute VedantSri. There is Latest Computer Course Offer in ADCA Computer Course, DCA Computer Course, CCC Computer Course & English Spoken.

यदि आप GD Topics की जानकारी चाहते हैं तो इस लिंक पर जाए

(IT-Industry GD Topics Spoken)

About CCC Online Test 2020

यदि आप Photoshop-Courses Classes Training Tutorials की जानकारी चाहते हैं तो इस लिंक पर जाए

MS-Word Online Test 2019:- This is M.S Word Online Test Website Page. If You are preparing for CCC Exam or any competitive exam then you should visit on this www.vedantsri.net website.

यदि आप Computer Courses For Jobs की जानकारी चाहते हैं तो इस लिंक पर जाए

you can also download this app from play store and you find Just like many more Online Test Series Related For Example MS Word, MS Excel, MS PowerPoint, Internet-related.

यदि आप Best Infrastructure Computer Institute की जानकारी चाहते हैं तो इस लिंक पर जाए

This is Provided By VedantSri Computer Institute in Varanasi. The VedantSri Provides Best Computer Classes, Courses, Coachings and Computer Training in Varanasi Uttar Pradesh India.

यदि आप CorelDraw Courses Classes Training-Instituteकी जानकारी चाहते हैं तो इस लिंक पर जाए

(IT-Industry GD Topics Spoken)

Important Links

1-VedantSri Official Website:- https://vedantsri.com

2-VedantSri Student Support Website:- https://vedantsri.net

3-Students Jobs Assist Website:- https://www.jobdo.in

4- News By Students Website:- https://varanasigyan.com

5-Best Deal on IT Website:- https://www.computeritpoint.com

2 thoughts on “IT-Industry GD Topics Spoken

Leave a Reply